शुभगीता छंद ‘जीवन संगिनी’

शुभगीता छंद 27 मात्राओं का सम मात्रिक छंद है जो 15 और 12 मात्रा के दो यति खंड में विभक्त रहता है।  दो दो या चारों पद समतुकांत होते हैं।
1 2122 2122, 2122 212(S1S) (15+12)

तंत्री छंद ‘दुल्हन’

तंत्री छंद 32 मात्राओं का समपद मात्रिक छंद है। प्रत्येक पद क्रमशः 8, 8, 6, 10 मात्राओं के चार यति खंडों में विभाजित रहता है।

2222, 2222, 222, 2 2222